Advertisement
HomeCurrent Affairs Hindiकैबिनेट ने दूरसंचार क्षेत्र में स्वत: मार्ग से 100% एफडीआई को मंजूरी...

कैबिनेट ने दूरसंचार क्षेत्र में स्वत: मार्ग से 100% एफडीआई को मंजूरी दी

दूरसंचार क्षेत्र में सुधार: केंद्रीय संचार मंत्री अश्विनी वैष्णव ने 15 सितंबर, 2021 को जानकारी दी कि केंद्रीय मंत्रिमंडल ने अनुमति देने का फैसला किया है दूरसंचार क्षेत्र में स्वत: मार्ग के माध्यम से 100% एफडीआई (प्रत्यक्ष विदेशी निवेश)। उन्होंने कहा कि सभी सुरक्षा उपाय लागू होंगे।

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि कैबिनेट ने दूरसंचार क्षेत्र में नौ संरचनात्मक सुधारों और पांच प्रक्रिया सुधारों को मंजूरी दी है। उन्होंने कहा कि ये सुधार पूरे दूरसंचार क्षेत्र के ढांचे को बदल देंगे और उद्योग को गहरा और व्यापक बनाएंगे।

दूरसंचार क्षेत्र में प्रमुख सुधार

सभी गैर-दूरसंचार राजस्व को एजीआर से बाहर किया जाएगा

प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में केंद्रीय मंत्रिमंडल ने समायोजित सकल राजस्व (AGR) की परिभाषा को युक्तिसंगत बनाने का निर्णय लिया है, एक मांग जिसे दूरसंचार कंपनियों द्वारा वर्षों से आगे रखा गया था। संचार मंत्री ने बताया कि इससे सभी गैर-दूरसंचार राजस्व को एजीआर से निकालने का मार्ग प्रशस्त होगा।

एजीआर की परिभाषा दूरसंचार क्षेत्र में तनाव का एक प्रमुख कारण थी, क्योंकि इसमें लाइसेंस शुल्क, स्पेक्ट्रम उपयोगकर्ता शुल्क और सभी प्रकार के शुल्कों के भुगतान पर भारी ब्याज, जुर्माना और ब्याज की व्यवस्था शामिल थी। एजीआर राजस्व को संदर्भित करता है जिसे वैधानिक देय राशि के भुगतान के लिए माना जाता है।

मासिक की जगह करना होगा ब्याज का वार्षिक चक्रवृद्धि

केंद्रीय मंत्री अश्विनी वैष्णव ने भी बताया कि मासिक चक्रवृद्धि के बजाय अब वार्षिक चक्रवृद्धि ब्याज किया जाएगा। इसके तहत एमसीएलआर + 2% ब्याज दर की उचित ब्याज दर की पेशकश की गई है और जुर्माना पूरी तरह से समाप्त कर दिया गया है।

वैष्णव ने प्रेस वार्ता के दौरान कहा कि इससे दूरसंचार क्षेत्र में बड़े पैमाने पर निवेश की सुविधा होगी और निवेश का मतलब रोजगार होगा।

स्पेक्ट्रम साझा करने की अनुमति

केंद्रीय मंत्री ने यह भी बताया कि स्पेक्ट्रम साझा करने की पूरी तरह से अनुमति दी गई है और यह मुफ्त होगी। उन्होंने कहा कि भविष्य की नीलामी के लिए स्पेक्ट्रम की अवधि 20 वर्ष के बजाय 30 वर्ष होगी और यदि कोई व्यक्ति स्पेक्ट्रम और व्यावसायिक शर्तों/प्रौद्योगिकी में परिवर्तन करता है तो 10 वर्ष की लॉक-इन अवधि के बाद उसे स्पेक्ट्रम शुल्क का भुगतान करके आत्मसमर्पण किया जा सकता है।

देय राशि के भुगतान पर 4 साल की मोहलत

मंत्रिमंडल ने दूरसंचार क्षेत्र के कुछ प्रमुख खिलाड़ियों के सामने आने वाले नकदी प्रवाह के मुद्दों को कम करने के लिए दूरसंचार कंपनियों द्वारा वैधानिक बकाया के भुगतान पर चार साल की मोहलत को भी मंजूरी दे दी है। मोराटोरियम का लाभ उठाने वाली कंपनियों को मोराटोरियम राशि पर एमसीएलआर + 2% की दर से ब्याज देना होगा।

.

- Advertisment -

Tranding