Advertisement
HomeCurrent Affairs Hindiगुरुग्राम में स्थापित हुआ भारत का पहला 'ग्रेन एटीएम'

गुरुग्राम में स्थापित हुआ भारत का पहला ‘ग्रेन एटीएम’

हरियाणा सरकार ने 14 जुलाई, 2021 को घोषणा की कि भारत का पहला अनाज एटीएम ‘अन्नपूर्ति’ एक पायलट परियोजना के रूप में गुरुग्राम के फर्रुखनगर में स्थापित किया गया है।

हरियाणा के उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला, जिनके पास खाद्य और नागरिक आपूर्ति का पोर्टफोलियो भी है, ने कहा, “इस मशीन को स्थापित करने का उद्देश्य यह सुनिश्चित करना है कि सही मात्रा में कम से कम परेशानी के साथ सही लाभार्थी तक पहुंचे।”

ये अनाज एटीएम राशन की मात्रा और प्रतीक्षा समय के सही माप के संबंध में सभी शिकायतों का समाधान करेंगे। उन्होंने कहा कि गुरुग्राम के फर्रुखनगर में अनाज एटीएम की पायलट परियोजना की सफल स्थापना के साथ, हरियाणा सरकार ने राज्य भर में अपने डिपो में इन एटीएम को स्थापित करने की योजना बनाई है।

अनाज एटीएम क्या है?

• संयुक्त राष्ट्र (यूएन) के ‘विश्व खाद्य कार्यक्रम’ के तहत फर्रुखनगर, गुरुग्राम में पायलट परियोजना के रूप में भारत का पहला अनाज एटीएम स्थापित किया गया है।

• अनाज एटीएम को स्वचालित, बहु वस्तु, अनाज वितरण मशीन के रूप में जाना जाता है। यह नियमित बैंक एटीएम मशीनों की तरह कार्य करता है।

• अनाज एटीएम 7 मिनट में 70 किलो तक निकाल सकता है। यह तीन प्रकार के अनाज – चावल, बाजरा और गेहूं का वितरण करेगा। वर्तमान में, गुरुग्राम में अनाज एटीएम गेहूं बांटने के लिए तैयार है।

कैसे काम करेगा अनाज एटीएम?

• अनाज एटीएम एक बायोमीट्रिक प्रणाली और एक टच स्क्रीन के साथ स्थापित है।

• लाभार्थियों को अपना राशन कार्ड या आधार कार्ड नंबर दर्ज करना होगा।

• सफल बायोमेट्रिक प्रमाणीकरण के बाद, मशीन मशीन के नीचे लगे बैगों में अनाज वितरित करेगी।

गुरुग्राम में भारत का पहला अनाज एटीएम: लाभ

• अनाज एटीएम इसमें सहायता करेंगे:

(i) राशन की मात्रा और प्रतीक्षा समय के सही माप के संबंध में शिकायतों का समाधान करना।

(ii) सरकारी डिपो में खाद्यान्न की कमी से संबंधित शिकायतों को समाप्त करना।

(iii) सार्वजनिक वितरण प्रणाली में अधिक पारदर्शिता लाना।

(iv) सरकारी डिपो संचालकों का समय बचाने के साथ-साथ खाद्यान्न वितरण करना।

.

- Advertisment -

Tranding